Teetar Bird Information in Hindi : तीतर पक्षी से जुड़ीं रोचक बातें पढ़ें

Teetar Bird Information in Hindi

  1. तीतर एक पक्षी है जिसे अंग्रेजी में Pheasant कहा जाता है।
  2. संसारभर में तीतर की बहुत सारी प्रजातियां पायी जाती हैं जो ज्यादातर भारत में हैं।
  3. प्राचीन समय में किसान अपनी फसलों पर कीटनाशक दवाईओं का इस्तेमाल नहीं करते थे और फसलों को खाने वाले कीड़े -मकौडों को किसान के मित्र पक्षी कण्ट्रोल में रखते थे जिसमें से तीतर उनमे से एक है जो फसलों को बर्बाद करने वाले कीटनाशकों को चट कर जाता है।
  4. तीतर दो तरह को होते हैं काले रंग के तीतर और भूरे रंग के तीतर।
  5. लागातर कीटनाशक दवाईयों के प्रयोग से आज कल तीतर बहुत कम दिखाई देते हैं यह लगातार अलोप होते जा रहे हैं।
  6. तीतर को उड़ना ज्यादा अच्छा नहीं लगता। वह अधिक ऊँची और लम्बी उड़ान नहीं भर पाता।
  7. तीतर (Teetar) पक्षी जमीन के अंदर दरारों में अपना घोंसला बनाता है।
  8. तीतर एक शर्मीला पक्षी है जो ज्यादातर अकेला अथवा छोटे -छोटे झुंडों में रहना पसंद करता है।
  9. तीतर (Teetar) की आवाज़ बड़ी तेज़ होती है आवाज़ सुनते ही अन्य तीतर भी उसकी आवाज़ में अपनी आवाज़ मिलाते हैं।
  10. तीतर ज्यादातर बीज , फल , बेरियां और अनाज खाना पसंद करता है।
  11. तीतर अपने तेज़ पंजों के द्वारा जमीन की मिट्टी निकाल कर छोटे -छोटे नए पौधे निकालकर खा जाता है।
  12. दीमक और चींटियां इसका पसंदीदा आहार है।
  13. यह घने जंगलों की वजाय झाड़ियों और घास फूस वाली जगहों पर ररहना ज्यादा पसंद करते हैं।
  14. मादा तीतर का प्रजनन काल अप्रैल से जून तक होता है।
  15. मादा तीतर 8 से लेकर 12 अंडे देती है।
  16. मादा तीतर अण्डों को 20 दिनों तक सेती है।नर तीतर झाड़ियों में खड़े होकर बड़े ही अनूठे ढंग से मादा तीतर को आकर्षित करते हैं।
  17. काले तीतर (Teetar) को हरियाणा का राज्य पक्षी होने का गौरव प्राप्त है।
  18. काला तीतर भारत के इलावा पाकिस्तान , नेपाल , भूटान और ईरान में भी पाया जाता है।
  19. संसारभर में तीतर की 40 से भी ज्यादा प्रजातियां पायी जाती हैं।