पेड़ों पर कविताएं – Poem on Trees in Hindi

चलिए देखते हे पेड़ों पर यानि Trees पर कविताएं हिंदी में |

Trees Poem Hindi Language (kavita)

में हूं पेड़ मुझे मत काटो
टुकड़ों टुकड़ों में मत बांटों
दर्द मुझे भी होता है
मन मेरा भी रोता है
में तो सखा तुम्हारा हूं
मित्र  सबसे न्यारा हूंफल में खुद नहीं खाता हूं
सभी तुम्हे ही दे जाता हूंजहरीली गैसें पी जाता

शुद्ध हवा तुम तक पहुंचाता
झूम झूम के जब लहराऊँ
मानसून के बादल लाऊँ
धरती का श्रुंगार करूं
सूरज का सब ताप हरू
जीवन का में हूं आधार
फिर भी तुम मुझ पर करते प्रहार
सुनों बात तुम देकर कान
वृक्षों का करना सम्मान
रखवाली हरियाली की
चाबी खुशहाली की

HINDI POEM ON TREE FOR CLASS 3, 5

आओ बच्चों
मिलजुल कर
हम पेड़ लगाएं।
पेड़ लगाकर
अपनी धरती
को सुंदर बनाएं।पेड़ हमें छाया दें
मीठे फ़ल दें
जीवन वायु भी
अपने अंग भी।
हर अंग सुख पहुंचाता।तभी तो मैं गाता
आओ बच्चो
मिलजुल कर
पेड़ लगाएं। – के एल दिवान।

Leave a Comment