आम पर कविता Mango poem in Hindi

Mango poem in Hindi

सुनकर कोयल की पुकार
आ गया आमों का त्योहार
आम खाने को हो जाओ तैयार
मीठे -खट्टे आम आ गए बाजार।

दशहरी, लंगड़ा, सफेदा , तोतापरी
बच्चों ! कौन सा आम खाओगे ?
खाकर मन ही मन मुस्कराओगे
क्या फिर मधुर गीत गाओगे।

मनाओ तुम आमों का त्योहार
तुम्हार दोस्त भी हैं आसपास
करो तुम कोई बात ख़ास
मिले सबको आमों की सौगात।

पढ़ाई कर खेलो तुम दिन -रत
आयी है यहां आमों की बारात
ले लो जो तुम्हे आये रास
हमेशा तुम करो अच्छी सी बात।

वीरेंद्र शर्मा

आम पर कविता : Aam par Kavita

हर कोई देख इसे ललचाये

फिर खाये बिना रहा ना जाए

पीला हरा रंगीला आम
होता बड़ा रसीला आम

गर्मी की ऋतू आई खट्टे मीठे उपहार लायी
गर्मी के मौसम में ये आता

Hindi Poem on Mango for Kids

आम फलों का राजा कहलाता
खट्टा मीठा आम तो सबको है भाता

यह है पौष्टिक तत्वों से भरपूर
यो आपको रखता है बीमारियों से दूर
आम प्यारे प्यारे रंगों में हे आता

अपने स्वाद के कारण सब फलों
का ये राजा है कहलाता

आम गर्मी के मौसम में आता है
बच्चे बूढ़े बड़े प्यार से इसे
जमकर हैं खाते

आम का अब समय आया
इन रसीले आम खाने को जी ललचाया है