जल ही जीवन है पर निबंध essay on jal hi jeevan hai in Hindi

जल ही जीवन है पर निबंध Essay on jal hi jeevan hai in Hindi: जल के बगैर जीने की कल्पना तक नहीं की जा सकती है इसीलिए जल हमारे लिए सबसे जरूरी है।  जल इतना महत्वपूर्ण होने के बाद भी लोगों को जल की कीमत ज्यादा नहीं लगती वह मन मर्जी से जल को बर्बाद करते हैं। आज कल देखा गया है के देश के कुछ ऐसे इलाके है यहां पर पानी की भारी किल्लत है यहां पानी बड़ी मुश्किल से मिलता है जल की कमी के कारण वहां खेती नहीं हो पाती। पानी हमें कुदरत की ओर से एक बहुमूल्य उपहार मिला है जिसे हमें बर्बाद होने से बचाना है

जल सरंक्षण के प्रति जागरूकता बढाने के लिए आज हम आपके लिए स्लोगन (Slogans) लेकर आये हैं

Few lines about save water in Hindi

  1. पानी की रक्षा ही समाज की रक्षा है।
  2. जल बचाइये जीवन संभारिये।
  3. दुनिया को अगर है बचाना , तो जल है आपको बचाना।
  4. सभी मिलकर करो सहयोग , पानी को कभी न करें दुरूपयोग
  5. जल हे तो जीवन है
  6. जल बचाएं , अपना कल बचाएं
  7. कोशिश करिये पानी की एक एक बूंद को बचाने की
  8. जल बचाव की बनें मिसाल , पानी की समस्या है विकराल
  9. जल सरंक्षण ही पृथ्वी की रक्षा है
  10. पानी बिना जीवन संभव नहीं है
  11. पानी की बचत , आपकी बचत
  12. पानी को यूंही व्यर्थ ना गवाएं
  13. पानी की कीमत को पहचानो
  14. जल खत्म तो जीवन खत्म
  15. पानी की असल कीमत का उस इंसान को पता होता है जो रेगिस्थान की तपती धूप से निकल कर आया हो
  16. एक प्यासे को पानी की एक बूंद की कीमत सोने चांदी से भी कहीं ज्यादा लगती है

जल ही जीवन है पर निबंध essay on Jal hi Jeevan Hai in Hindi

यह तो सत्य है बल्कि इसके बिना तो मानव जीवन के अस्तित्व की कल्पना तक नहीं की जा सकती है। पृथ्वी का लगभग दो तिहाई भाग जलमग्न है कुदरत ने बारिश , नदियां , तालाब , कुएं और सागर आदि स्रोतों को जल प्रदान किया ताकि पृथ्वी पर जल की मात्रा बनी रहे। मनुष्य के शरीर का लगभग 70 प्रतिशत भाग जल का है। धरती का सिर्फ 0.3 प्रतिशत पानी ही पीने के लायक माना गया है इतनी कम मात्रा शुद्ध जल की होने के बावजूद हम निरंतर आंखें मूंदे पानी को बर्बाद करते रहते हैं यह जानते हुए भी जल हमारे जीवन के लिए कितना कीमती है। कहीं नहाते समय और हाथ धोते समय न जाने कितना पानी बर्बाद कर देते हैं, कहीं मनुष्य और पशु -पक्षी बूंद -बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं।

जल का महत्व (importance of water essay hindi) – जल ऐसा है जिसे कुदरत द्वारा हमें मुफ्त में दिया जाता है। जल ही जीवन है यह कहावत तो तुमने सुनी ही होगी किन्तु पानी की बर्बादी करते समय अक्सर सभी इस कहावत को भूल जाते हैं क्योंकि अभी हमारे यहां पानी की उपलब्धता सुलभ है किन्तु दुनिया में कई ऐसे देश हैं यहां पीने के लिए भी बड़ी मुश्किल से पानी मिल पाता है और उसके लिए भी बड़ी कीमत चुकानी पडती है जल की इस महत्ता को समझते हुए कुछ देश जल संरक्षण के लिए टेक्नोलॉजी का सहारा ले रहे हैं।

तुम सभी जानते हो के धरती का 70% क्षेत्र में जल पाया जाता है किन्तु इसमें से केवल 3 प्रतिशत से भी कम शुद्ध जल है अर्थात पीने लायक पानी है। साफी पानी के इन सभी स्रोतों में जल बारिश से ही आता है कुछ जगहों पर हिमालय से बर्फ पिघलने से यह पानी प्राप्त होता है। संसारभर में पेयजल के इस संकट को देखते हुए सऊदी अरब, इस्राईल, ग्रीस आदि देश जल संरक्षण के लिए काम कर रहे हैं।

जलवायु परिवर्तन और और पानी की बेवजह बर्बादी के कारण आज जल संकट हमारे सामने आ खड़ा है क्या तुम्हे पता है के धरती की सतह पर तकरीबन 326 मिलियन क्यूबिक की दूरी पर पानी फैला हुआ है लेकिन पृथ्वी पर मौजूद इतने पानी का एक प्रतिशत से भी कम हमारे पीने के लायक है बाकी समुन्द्रों आदि में खारे पानी के रूप में जमा हुआ है जो पीने के लायक नहीं होता है। पृथ्वी पर आये जल संकट को देखते हुए वैज्ञानिक समुन्द्र के खारे पानी को पीन योग्य बनाने का प्रयास कर रहे हैं। पृथ्वी मौजूद जल का 97 फीसदी हिस्सा समुन्द्र ही है।

न जाने रोजाना हम कितना ज्यादा पानी बर्बाद कर देते हैं यदि हम जल संकट से उबरना चाहते हैं और अपना भविष्य सुरक्षित रखना चाहते हैं तो आप को रोजाना होने वाली पानी की बर्बादी को रोकना होगा हमें जल संरक्षण के लिए खास कदम उठाने होंगे। कुछ टिप्स अपनाकर आप पानी की बर्बादी को काफी हद्द तक रोक सकते हैं।

पानी की बचत कैसे करें – HOW TO SAVE WATER

  • पानी पीते समय हमें यह ध्यान रखना चाहिए के गिलास में उतना ही पानी लेना चाहिए जितना हमें चाहिए।
  • ब्रश करते वक्त सदैव नल को खुला मत छोडो हाथ धोने और माउथ ब्रश करते समय नल का पानी धीमी गति में चलाओ कोशिश करें के आप मग में पानी लें।
  • यदि नल से कोई लीकेज हो रही हो तो उसे तुरंत ठीक करवा देना चाहिए।
  • शावर की बजाए यदि बाल्टी में पानी लेकर नहाया जाए तो काफी पानी की बचत हो सकती है।
  • पौधों में पानी पाइप से न देकर फुहारे से दो।
  • नदी तालाब जैसे स्रोतों के पास कूड़ा -करकट न फेंके।

पूरे विश्वभर में हर साल 22 मार्च वाले दिन जल दिवस के रूप में मनाया जाता है ताकि लोगों के बीच जल के महत्व, जरूरत और संरक्षण के महत्व के रूप में जागरूकता बढाई जा सके इस दिवस को पहली वार सन 1992 में संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन की अनसुची में जोड़ा गया था।

________________________________

Essay on Jal hi Jeevan Hai in  Hindi 1000 words –

जल ही जीवन है यह कहावत बड़ी पुरानी है फिर भी लोग लापरवाही से पानी की बर्बादी करते हैं शायद इसलिए कि हमारे जहां यह सहज उपलब्ध है मगर कई ऐसे देश है जहां पानी मुश्किल से मिल पाता है और उसके लिए बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है कहीं-कहीं तो पानी की बर्बादी के लिए बड़ा जुर्माना भी भरना पड़ता है वर्ल्ड वाटर डे पर पानी का महत्व जानते हैं।

हमारे देश में लगभग 20 करोड़ लोगों को पीने के लिए साफ़ पानी नहीं मिल पाता है और पूरे विश्व में जो आंकड़ा 1.30 अरब का है दुनिया भर में हर रोज लगभग 6000 लोगों की मौत अशुद्ध पानी पीने से हो जाती है। पृथ्वी पर जितना भी पानी मौजूद है उसका 97% भाग खारा है जबकि 3% ही सही पीने योग्य पानी का उपलब्ध है इसमें से भी 2% पानी बर्फ के रूप में है यानी हमारे पास पीने योग्य पानी सिर्फ 1% है इस पानी का भी एक बड़ा भाग अमेरिका और कनाडा की सीमाओं पर स्थित बड़े बड़े तालाबों में मौजूद है। बढ़ती जनसंख्या और प्रदूषण पानी के इस छोटे से हिस्से को भी तेजी से खत्म कर रही है पानी के बंटवारे को लेकर कई देशों के बीच विवाद उठने भी शुरू हो चुके हैं यदि इस स्थिति को समय रहते नहीं सुधारा गया तो सचमुच तीसरा विश्वयुद्ध पानी के लिए ही होगा।

पानी की कमी से जूझ रहे देश :

हर तरह की सुख सुविधाओं से संपन्न देश सिंगापुर पानी के मामले में बहुत गरीब है अपनी जरूरतों के लिए उसे हजारों लीटर पानी मलेशिया से आयात करना पड़ता है जहां 30% पानी आयात द्वारा 10% पानी समुंद्री जल की विलवणीकरण द्वारा और बाकी जरूरत सीवेज के पानी को रिसाइकल करके पूरी की जाती है।

उत्तरी महाराष्ट्र, राजस्थान और आंध्र प्रदेश में ऐसे इलाके हैं जहां आज भी महिलाओं को कई किलोमीटर चलकर पानी पीने का लाना पड़ता है।

पिछले साल दिसंबर में मालदीव में समुद्री जल के विलवणीकरण संयंत्र में आग लग जाने से वहां पानी की व्यवस्था पूरी तरह तबाह हो गई थी जिससे लोगों को कई दिन पानी के बिना गुजारने पड़े थे उस समय भारत ने सैंकड़ों टन पानी पहुंचा कर वहां के लोगों की मदद की थी।

सऊदी अरब में पानी कच्चे तेल के मुकाबले कहीं ज्यादा महंगा मिलता है जहां तेल की कीमत 3 लीटर/रियाल (करीब 16 रूपए) और पानी की कीमत 1 लीटर/ 2 रियाल 32 रुपए है।

कैलिफोर्निया स्थित टयुलेयर काउंटी में पानी की फिजूलखर्ची करने पर $500 प्रतिदिन जुर्माना लगता है जहां पानी की इतनी कमी हो चुकी है कि लोगों को कई दिन तक नहाने के लिए भी पानी नहीं मिल पाता।

खारे पानी को मीठा बनाने की योजना : जल ही जीवन है पर निबंध 

पानी की कमी को दूर करने के लिए बरसों से खारे पानी को पीने योग्य बनाने की कोशिश होती रही है लेकिन इस दिशा में कोई बड़ी सफलता अब तक नहीं मिल सकी है अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, इस्राएल, चीन, भारत और सऊदी अरब अपनी पानी की जरूरत का एक बड़ा हिस्सा समुद्री जल को विलवणीकरण करके पूरा करते हैं सऊदी अरब की राजधानी रियाद में इसके लिए 320 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाई गई है दुनिया भर में इसके लिए 15000 और भारत के अंडमान गुजरात तमिलनाडु लक्ष्यदीप और आंध्र प्रदेश में छोटे-छोटे 175 संयंत्र चल रहे हैं इस विधि से पानी में से नाक की मात्रा पूरी तरह निकल नहीं पाती है। इस प्रक्रिया को दो बार करना पड़ता है जिससे काफी मात्रा में ऊर्जा खर्च होती है लेकिन अब ऑस्ट्रेलियन राष्ट्रीय विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने बोरोन और नाइट्रोजन के  अणुओं से एक विशेष प्रकार की नैनोट्यूब बनाकर समुद्र के खारे पानी को पीने लायक बनाने की कोशिश की है और नाइट्रेट की बनी है नैनो ट्यूब इंसान के बाल से भी 10000 गुना ज्यादा छोटी और महीन है। पानी को पहले के मुकाबले 5 गुना ज्यादा तेजी से साफ करने में सक्षम है वर्तमान की जल संकट को देखते हुए इस तकनीकी सफलता दुनिया के लिए वरदान साबित हो सकती है।

Jal Bachao Essay 

  1. अपने दोस्तों के साथ मिलकर एक लिस्ट तैयार करो कि तुम कहां कहां पानी की फिजूलखर्ची करते हो इसे कम करने की कोशिश करो।
  2. शावर में नहाने की बजाय बाल्टी से नहाओ इसे पानी बर्बाद नहीं होगा।
  3. फसल उगाने के लिए हजारों लीटर पानी की जरूरत पड़ती है इसलिए खाना बर्बाद मत करो।
  4. डेरी प्रोडक्ट्स और नॉनवेज को तैयार करने में काफी पानी खर्च होता है अत: वेज को अपना कर भी तुम काफी पानी बचा सकते हो।
  5. अपने घर और स्कूल में हमेशा पानी की पाइप पर नजर रखो लीकेज की स्थिति में तुरंत किसी बड़े को इसकी सूचना दो।
  6. नल से 1 मिनट में 6 लीटर पानी निकल जाता है इसलिए नल खुला छोड़ कर कोई काम मत करो।
  7. अपने सभी दोस्तों को बताओ कि पानी बचाना कितना जरूरी है इसके लिए सभी को प्रयास करना चाहिए।

जल कुदरत के अनमोल उपहारों में से एक है  मनुष्य जाति और अन्य प्राणियों के लिए सबसे जरूरी है जल मनुष्य शरीर में लगभग 2 तिहाई भाग जल का है इससे साफ़ स्पष्ट हो जाता है के पानी जीवन का जरूरी अंग है।

जिस जगह जल मौजूद होता है वहीँ जीवन का अस्तित्व होता है हमारी पृथ्वी ही एक ऐसा ग्रह है जहाँ जीवन पाया जाता है क्योंकि धरती पर जीने लायक सभी चीज़ें मौजूद हैं जैसे हवा , पानी , भोजन , जलवायु आदि दूसरे ग्रहों जैसे मंगल , बुध , जा फिर शुक्र पर जीने लायक सभी चीज़े मौजूद नहीं हैं इसीलिए वहां पर जीवनसंभव नहीं हो सकता पानी का इतना ज्यादा महत्व होने के बाद भी हम इसे बर्बाद करने पर तुले हुए हैं।

हमारी धरती में 71 प्रतिशत जल समाया हुआ है इतना जल होने के बाद भी सिर्फ इसका 3 प्रतिशत ही पीने योग्य है दूसरा बचा पानी हमारे पीने लायक नहीं हैं। जबकि हमारी धरती पर रहने वाले प्राणियों का संतुलन ही जल पर टिका हुआ है यदि जल नहीं तो हम नहीं जल की इतनी किल्ल्त होने के बाद भी हम इसे रोजाना न जाने कितना बिना किसी काम के बर्बाद कर देते हैं।

जैसे ब्रश करते समय नल खुला छोड़कर ब्रश करते रहना टोटी को ऐसे ही खुला छोड़ देना न जाने ऐसे ही बहुत सारे तरीकों से हम रोजाना पानी बर्बाद करते रहते हैं।  हमारे देश में ऐसी जगह भी हैं जहाँ लोगों को अपने घर से कई किलोमीटर जाकर पानी लाना पड़ता है  उनका आधा दिन तो पानी लेकर आने में ही गुजर जाता है पानी की यह समस्या दिनभर दिन बढ़ती ही जा रही है। जल का स्तर दिनभर दिन कम होता जा रहा है इसीलिए हमें पानी के महत्व को समझते हुए इसे बर्बाद होने से बचाना चाहिए क्योंकि इसका संरक्षण ही हमारा और धरती का बचाव है।

नोट – दोस्तों यदि आपको हमारा यह लेख जल ही जीवन है पर अच्छा लगा तो आपके कीमती सुझाव हमारे साथ कमेंट के माध्यम से जरूर साँझा करें – धन्यवाद

Default image
Azstudy Team
Azstudy.in is a Hindi study website for the School, College, as well graduates preparing for various exams. Azstudy.in Team provides top quality Hindi study content on various Hindi Topics like Essay, Poems, Quotes, Govt exam related material in Hindi.
Articles: 37